CBI की रेड में बरामद हुआ अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर!

बिल्डर अविनाश भोसले के यहां CBI का छापा!
 | 
अगस्ता वेस्टलैंड
पुणे में CBI ने एक बिल्डर की संपत्ति पर छापा मारने के दौरान एक हेलीकॉप्टर जब्त किया है। अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक सीबीआई ने डीएचएफएल घोटाला मामले में बिल्डर अविनाश भोसले के परिसर से अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर जब्त किया है।बताया जा रहा है कि भोसले DHFL से संबंधित एक घोटाले में शामिल था। इस घोटाले में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के नेतृत्व में 17 बैंकों के एक संघ को 34,615 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था। भोसले के घर से जिस हेलीकॉप्टर को CBI ने जब्त किया है वो अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी ने बनाया है।

महाराष्ट्र के पुणे में CBI ने एक बिल्डर की संपत्ति पर छापा मारने के दौरान एक हेलीकॉप्टर जब्त किया है। अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक सीबीआई ने डीएचएफएल घोटाला मामले में बिल्डर अविनाश भोसले के परिसर से अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर जब्त किया है। 

बताया जा रहा है कि भोसले DHFL से संबंधित एक घोटाले में शामिल था। इस घोटाले में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के नेतृत्व में 17 बैंकों के एक संघ को 34,615 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था। भोसले के घर से जिस हेलीकॉप्टर को CBI ने जब्त किया है वो अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी ने बनाया है।

जानकारी के मुताबिक सीबीआई के अधिकारियों को पुणे में अविनाश भोसले के परिसर की ऊंची दीवारों के पीछे बने एक बड़े आलीशान हॉल के अंदर यह हेलीकॉप्टर मिला। सीबीआई ने शुरुआती छापों में अविनाश भोसले के ठिकानों से महंगी घड़ियां, गाड़ियां बरामद की थीं लेकिन हेलीकॉप्टर का मिलना चौंकाने वाला है। हालांकि, सीबीआई ने अभी यह नहीं बताया है कि बिल्डर के पास अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर कैसे पहुंचा।

अविनाश भोसले फिलहाल हिरासत में हैं। उन्हें सीबीआई ने दीवान हाउसिंग फाइनांस लिमिटेड और यस बैंक से जुड़े घोटाले के मामले में अरेस्ट किया है। सोमवार (25 जुलाई 2022) को सीबीआई ने उनके खिलाफ चार्जशीट फाइल की थी। सीबीआई की चार्जशीट में कहा गया है कि डीएचएफएल और यस बैंक घोटाले के आरोपी बिल्डर अविनाश भोसले ने लंदन में प्रॉपर्टी खरीदने के लिए 300 करोड़ रुपए अपने अकाउंट से पेमेंट किए थे। यह संपत्ति 2018 में खरीदी गई थी।

अविनाश भोसले महाराष्ट्र के कई नेताओं का करीबी बताया जाता है। CBI ने भोसले को इस साल मई में गिरफ्तार किया था, फिर ईडी द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद से उसे न्यायिक हिरासत में रखा गया है। इससे पहले बिल्डर के घर और ऑफिस पर छापे मारे गए थे। जानकारी के मुताबिक भोसले ने यस बैंक से डीएचएफएल को लोन दिलवाने में बड़ी भूमिका निभाई थी। जिसके बदले में उसे करोड़ों रुपए का कमीशन मिला था। सीबीआई का आरोप है कि भोसले की कंपनियों ने 2018 में डीएचएफएल से करीब 69 करोड़ रुपए कमीशन के तौर पर हासिल किए थे। इसे कंसल्टेंसी सर्विसेज के लिए लिया गया चार्ज बताया गया था।

Latest News

Featured

Around The Web