कांग्रेस नेता सिद्धारमैया को मारने की धमकी मामले में 16 गिरफ्तार

सावरकर पर टिप्पणी के बाद मिली थी  जान से मारने की धमकी 
 | 
सिद्धारमैया ने कहा अगर मुख्यमंत्री आते हैं, तो क्या वे लोगों को काले झंडे के साथ विरोध करने देंगे? कि कल तितिमती में करीब 10 युवक नारे लगा रहे थे। इसके बाद कई जगहों पर वे एकत्र हो गए। क्या पुलिस उन्हें नहीं रोक सकती थी? क्या वे सतर्कता नहीं बरतेंगे, गिरफ्तारी नहीं करेंगे?
मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने सिद्धारमैया को जान से मारने की धमकी देने के मामले पर कहा था कि “हमने इस मुद्दे को गंभीरता से लिया है। मैंने पुलिस महानिदेशक को भी फोन किया था और उनसे बात की थी। पुलिस मामले की जांच करेगी। मैंने विपक्षी दल के नेता के लिए उपयुक्त सुरक्षा प्रदान करने का निर्देश दिया है। 

 

कर्नाटक- वीर सावरकर पर टिप्पणी को लेकर उठे विवाद के बीच सिद्धारमैया ने दावा किया था कि उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई है। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सिद्धारमैया को जान से मारने की धमकी देने के मामले में पुलिस ने 16 लोगों को गिरफ्तार किया है। इन सभी लोगों को कोडागु जिले से गिरफ्तार किया गया है।  मामले में जांच जारी है। कोडागु एसपी कैप्टन अयप्पा एमए ने बताया कि कुशलनगर से नौ और मदिकेरी से सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है।  

सिद्धारमैया ने कहा अगर मुख्यमंत्री आते हैं, तो क्या वे लोगों को काले झंडे के साथ विरोध करने देंगे? कि कल तितिमती में करीब 10 युवक नारे लगा रहे थे। इसके बाद कई जगहों पर वे एकत्र हो गए। क्या पुलिस उन्हें नहीं रोक सकती थी? क्या वे सतर्कता नहीं बरतेंगे, गिरफ्तारी नहीं करेंगे?

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने सिद्धारमैया को जान से मारने की धमकी देने के मामले पर कहा था कि- हमने इस मुद्दे को गंभीरता से लिया है। कोडागु एसपी कैप्टन अयप्पा एमए ने बताया कि कुशलनगर से नौ और मदिकेरी से सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि इन सभी को मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया जाएगा। कर्नाटक में कोडागु दौरे के दौरान कांग्रेस नेता सिद्धारमैया की कार पर अंडे फेंके जाने और काले झंडे दिखाए गए थे। अब कांग्रेस नेता ने इस तरह के विरोध को राज्य प्रायोजित करार दिया।

सिद्धारमैया ने कहा अगर मुख्यमंत्री आते हैं, तो क्या वे लोगों को काले झंडे के साथ विरोध करने देंगे? कि कल तितिमती में करीब 10 युवक नारे लगा रहे थे। इसके बाद कई जगहों पर वे एकत्र हो गए। क्या पुलिस उन्हें नहीं रोक सकती थी? क्या वे सतर्कता नहीं बरतेंगे, गिरफ्तारी नहीं करेंगे?

 

सिद्धारमैया ने कहा अगर मुख्यमंत्री आते हैं, तो क्या वे लोगों को काले झंडे के साथ विरोध करने देंगे? कि कल तितिमती में करीब 10 युवक नारे लगा रहे थे। इसके बाद कई जगहों पर वे एकत्र हो गए। क्या पुलिस उन्हें नहीं रोक सकती थी? क्या वे सतर्कता नहीं बरतेंगे, गिरफ्तारी नहीं करेंगे?   

वहीं, कर्नाटक विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सिद्धारमैया ने आरोप लगाया कि उनकी कार पर अंडे फेंकने वाले लोग एक खास संगठन से संबंध रखते हैं। कर्नाटक में कोडागु दौरे के दौरान कांग्रेस नेता सिद्धारमैया की कार पर अंडे फेंके जाने और काले झंडे दिखाए गए थे। उन्होंने दावा किया कि वे ऐसे संगठनों का महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे का संबंध था। इसके बाद शुक्रवार को कांग्रेस नेता ने इस तरह के विरोध को राज्य प्रायोजित करार दिया था।   


 

Latest News

Featured

Around The Web