मॉब लिचिंग को लेकर सियासत जारी: भाजपा के पूर्व विधायक ज्ञानदेव बोले- पहली बार हुआ है एक मारा, हमने पांच मारे

20 से 25 समुदाय विशेष के लोगों ने नित्य क्रिया करने गए चिरंजी को चोर समझ कर मार डाला 

 | 
Alwar
ज्ञानदेव आहूजा ने कहा कि मैंने हमारे लोगों को और कार्यकर्ताओं को छूट दे रखी है। मारो, बरी भी करवा देंगे, जमानत भी करवा देंगे। ज्ञानदेव आहूजा ने आगे कहा कि ये पहली बार हुआ है कि उन लोगों ने एक मारा है। अब तक तो पांच हमने मारे हैं।

अलवर- अलवर जिले के गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के रामबास में किसान चिरंजीलाल शौच करने खेत में गया था। इसी दौरान 20 से 25 समुदाय विशेष के लोगों ने नित्य क्रिया करने गए चिरंजी को चोर समझकर बुरी तरह से पीट दिया। जिससे चिरंजीलाल की मौत हो गई। ज्ञानदेव आहूजा ने समुदाय विशेष को लेकर कहा कि मैंने तो अपने कार्यकर्ताओं को छूट दे रखी है। मारो हम बरी करवा देंगे। ज्ञानदेव आहूजा के बयान पर मेवात विकास बोर्ड के चेयरमैन ने कहा कि भाजपा की भाषा ही ऐसी है। वहीं मृतक किसान के घर पहुंचे भाजपा के पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने विवादित बयान दिया। अलवर में मॉब लिचिंग को लेकर सियासत जारी है। इस घटना के विरोध में भाजपा गहलोत सरकार पर लगातार हमलावर है। 

Alwar

वहीं बयान को लेकर ज्ञानदेव आहूजा ने मीडिया को सफाई पेश की।पूर्व विधायक के बयान की मेवात विकास बोर्ड के चेयरमैन जुबैर खान ने निंदा की है। जुबैर खान ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद मिले, नौकरी में मदद हो। जिन्होंने हत्या की है उन्हें सजा मिले। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं की ऐसी ही भाषा है। ये न तो किसी की मदद करने वाले हैं, न कोई विकास करने वाले हैं।  मॉब लिंचिंग में अब से पहले जो लोग मारे गए, वे गौ तस्करी के आरोपी थे, गोकशी के घटनाओं में शामिल थे।उन्होंने कहा कि मेरे बयान का गलत अर्थ न निकाले।  धर्म विशेष की भावनाओं के साथ खेल रहे थे। जबकि चिरंजीलाल ने कोई गुनाह नहीं किया था। फिर भी उसे पीट-पीटकर मार डाला गया। इसलिए वे मारे गए। 

Alwar


ज्ञानदेव आहूजा ने कहा कि मैंने हमारे लोगों को और कार्यकर्ताओं को छूट दे रखी है। मारो, बरी भी करवा देंगे, जमानत भी करवा देंगे। नौकरी कौन सी सरकारी है, वह तो संविदा की है। ज्ञानदेव आहूजा ने आगे कहा कि ये पहली बार हुआ है कि उन लोगों ने एक मारा है। अब तक तो पांच हमने मारे हैं। चोरों ने अपने आप को पुलिस और ट्रैक्टर मालिकों से घिरा देख ट्रैक्टर को बिजली घर के पास स्थित एक खेत में छोड़ दिया और वहां से भाग गए। इतने में ही पुलिस से पहले ट्रैक्टर के मालिक खेत में पहुंच गए। जुबैर खान मृतक के परिजन को नौकरी देने की बात कह गए हैं।  अलवर के सदर थाना क्षेत्र से चोर एक ट्रैक्टर को चोरी करके आ रहे थे। सदर थाना पुलिस और ट्रैक्टर मालिक चोरों का पीछा कर रहे थे।

Latest News

Featured

Around The Web