राजामौली के पिता बोले : मुझे लगता था कि आरएसएस ने गांधी को मार डाला

बोले- बाद में पता चला, आरएसएस नहीं होता तो कश्मीर नहीं होता, यह पाकिस्तान में विलय हो जाता
 | 
  राजामौली के पिता बोले-  मुझे लगता था कि आरएसएस ने गांधी को मार डाला
कंगना रणौत ने विजयेंद्र के कश्मीर पर कहे गए कथन को अपनी इंस्टाग्राम स्टोरीज पर शेयर किया है। अभिनेत्री ने सोशल मीडिया पर विजयेंद्र प्रसाद के कोट को अंग्रेजी में ट्रांसलेट करते हुए लिखा, अगर आरएसएस नहीं होता, तो कश्मीर नहीं होता, यह पाकिस्तान में विलय हो जाता। 

विजयवाड़ा- आरएसएस के राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य राम माधव की पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में शामिल हुए थे। विजयवाड़ा में आयोजित कार्यक्रम के दौरान विजयेंद्र प्रसाद ने आरएसएस पर फिल्म और वेब सीरीज लिखने की घोषणा की। बाहुबली और आरआरआर जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्मों के लेखक और एस एस राजामौली के पिता विजयेंद्र प्रसाद  यदि आरएसएस नहीं होता तो कश्मीर न होता पाकिस्तान में विलय हो जाता और फिर लाखों हिंदू मारे जाते। 

  राजामौली के पिता बोले-  मुझे लगता था कि आरएसएस ने गांधी को मार डाला

विजयेंद्र प्रसाद  बोले-  आरएसएस ने एक गलती की है, जो जनता को अपने बारे में नहीं बताना है।मैं आप सभी को एक अच्छी खबर देना चाहता हूं, मैं जल्द ही काम शुरू करने जा रहा हूं। मैं आरएसएस पर एक फिल्म और एक वेब सीरीज बना रहा हूं । इस कमी को जितना हो सकेगा मैं पूरा करूंगा। मैं वादा करता हूं कि मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि हम सभी आरएसएस की महानता पर गर्व कर सकें।उन्होंने आगे कहा- अगर आरएसएस नहीं होता तो पाकिस्तान की वजह से लाखों हिंदू मारे जाते। कश्मीर नहीं होता, यह पाकिस्तान में विलय हो जाता। 

 

  राजामौली के पिता बोले-  मुझे लगता था कि आरएसएस ने गांधी को मार डाला

कंगना रणौत ने विजयेंद्र के कश्मीर पर कहे गए कथन को अपनी इंस्टाग्राम स्टोरीज पर शेयर किया है। अभिनेत्री ने सोशल मीडिया पर विजयेंद्र प्रसाद के कोट को अंग्रेजी में ट्रांसलेट करते हुए लिखा- मुझे बहुत पछतावा हुआ कि मैं इतने लंबे समय तक इतने बड़े संगठन के बारे में नहीं जानता था। आरएसएस ने एक गलती की है, जो जनता को अपने बारे में नहीं बताना है। इस कमी को जितना हो सकेगा मैं पूरा करूंगा।अगर आरएसएस नहीं होता, तो कश्मीर नहीं होता, यह पाकिस्तान में विलय हो जाता। 

उन्होंने आगे कहा- अगर आरएसएस नहीं होता तो पाकिस्तान की वजह से लाखों हिंदू मारे जाते। कश्मीर नहीं होता, यह पाकिस्तान में विलय हो जाता। 


उन्होंने कहा- मुझे आरएसएस पर फिल्म लिखने को कहा गया तब मैं नागपुर गया और मोहन भागवत से मिला। तीन-चार साल पहले तक मैं आरएसएस के बारे में ज्यादा नहीं जानता था। मैं आप सभी के सामने कुछ कबूल करना चाहता हूं। मुझे लगता था कि आरएसएस ने गांधी को मार डाला।  मुझे बहुत पछतावा हुआ कि मैं इतने लंबे समय तक इतने बड़े संगठन के बारे में नहीं जानता था। मैं वहां एक दिन रुका और पहली बार समझा कि आरएसएस क्या है।
 

Latest News

Featured

Around The Web