गुरुद्वारा पर तिरंगा फहराने का शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने कहा- यहां सिर्फ निशान साहिब झूल सकता है

इंदौर के इमली साहिब गुरुद्वारा पर तिरंगा फहराने का मामला
 | 
Shiromani Gurdwara Prabandhak Committee
शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी  प्रधान धामी ने कहा कि सिख राहत मर्यादा के अनुसार श्री गुरु नानक देव जी से जुड़े इस ऐतिहासिक गुरुद्वारा साहिब में केवल खालसा के निशान साहिब को ही फहराया जा सकता है।

 

अमृतसर- हर घर तिरंगा मुहिम के तहत मध्य प्रदेश के इंदौर में गुरुद्वारा साहिब पर तिरंगा फहराए जाने को लेकर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने ऐतराज जता दिया है। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी  प्रधान धामी ने कहा कि गुरुद्वारा प्रबंधन या प्रशासन, जिसने भी यह गलती की है, वह इस घटना के लिए जिम्मेदार है। उन्होंने तुरंत इस घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। उनका कहना है कि इस जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ आगे की कार्रवाई की जाएगी।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी को एक तस्वीर मिली, जिसमें गुरुद्वारा इमली साहिब पर तिरंगा फहराया गया था। उन्होंने इसकी कड़ी निंदा की है। धामी ने कहा कि सिख राहत मर्यादा के अनुसार श्री गुरु नानक देव जी से जुड़े इस ऐतिहासिक गुरुद्वारा साहिब में केवल खालसा के निशान साहिब को ही फहराया जा सकता है।

Shiromani Gurdwara Prabandhak Committee


शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी  के प्रधान एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी ने सिख मर्यादा का हवाला देते हुए मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। इससे पहले हरियाणा सरकार ने प्रदेश के गुरुद्वारों पर तिरंगा फहराने की बात कही थी। जिसके बाद SGPC ने ऐतराज जताया और हरियाणा सरकार को अपना फैसला बदलना पड़ा था।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान एडवोकेट धामी ने कहा कि मध्य प्रदेश के इंदौर में श्री गुरु नानक देव जी के साथ जुड़ा ऐतिहासिक गुरुद्वारा इमली साहिब है। SGPC पहले भी गुरुद्वारों पर तिरंगा ना फहराने की हिदायत जारी कर चुकी है। SGPC का मानना है कि सिख राहत मर्यादा के अनुसार किसी भी गुरुद्वारा साहिब पर सिर्फ खालसा केसरी झंडा ही फहराया जा सकता है।

Latest News

Featured

Around The Web