हिसार में नेशनल हाईवे स्थित Govt. Women College व Govt. Polytechnic College के सामने एक छात्रा के लिए भी रुकेगी सरकारी बस

छात्र व छात्राओं ने मुख्यमंत्री व जीएम को थैंक्यू बोला
 
 | 
HARYANA ROADWAYS
8 जून को मीडिया में रिपोर्टस छपी थी कि क़रीब 3 हज़ार छात्र व छात्राओं को 3 किलोमीटर पैदल चलकर शहर में मौजूद बस स्टैंड पर जाना पड़ता है जहां से उन्हें संबंधित गांव की बस मिलती है।

हिसार: दूर-दराज के स्कूल या कॉलेजों में छात्र-छात्राओं को कई-कई किलोमीटर पैदल चलकर पढ़ाई करने जाने पड़ता है। रास्ते मे बस अगर बस मिल जाये तो उसमें चढ़ने और उतरने के लिए अलग से जद्दोजहद करनी पड़ती है क्योंकि हरियाणा में रोड़वेज बस के चालकों की मनमानी से हर कोई परिचित है।

एक ऐसा ही मामला हिसार में देखने को मिला है जहां नेशनल हाईवे स्थित राजकीय महिला महाविद्यालय व राजकीय बहुतकनीकी संस्थान के छात्र-छात्राओं को शहर में मौजूद बस स्टैंड जाने के लिए क़रीब 3 किलोमीटर पैदल चलना पड़ता है। प्रतिष्टित अखबार अमर उजाला में मामले को लेकर रिपोर्ट प्रकाशित हुई तो हिसार डिपो के महाप्रबंधक राहुल मित्तल ने आदेश जारी किए की दोनों संस्थानों के सामने नियमित रूप से बसें रोकी जाए। कॉलेज के सामने अगर एक छात्रा भी बस के इंतजार में खड़ी है तो उसके लिए भी बस रोकी जाए। अगर कोई चालक या परिचालक आदेशों की अवेहलना करता है तो उसके खिलाफ विभागीय स्तर पर कार्रवाई की जाएगी।

3 हज़ार छात्र व छात्राओं को पैदल चलना पड़ता था

गौरतलब है कि 8 जून को मीडिया में रिपोर्टस छपी थी कि क़रीब 3 हज़ार छात्र व छात्राओं को 3 किलोमीटर पैदल चलकर बस स्टैंड जाना पड़ता है जहां से उन्हें संबंधित गांव की बस मिलती है। रिपोर्ट के छपने पर हिसार रोड़वेज डिपो के अधिकारियों ने आदेश जारी कर दिए हैं। हिसार डिपो के जीएम ने आदेश जारी किए कि हिसार से हांसी, महम, रोहतक मार्ग पर चलने वाली रोड़वेज की बसों को राजकीय महिला महाविद्यालय व राजकीय बहुतकनीकी संस्थान के सामने रोकना अनिवार्य है। 

महाप्रबंधक राहुल मित्तल ने कहा, राजकीय महिला महाविद्यालय व राजकीय बहुतकनीकी संस्थान के सामने हरियाणा रोड़वेज की बसों को रोकने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। छात्राओं की सुविधा के लिए बसों को रोकना अनिवार्य है। अगर कोई चालक या परिचालक ऐसा नही करता है तो उसपर विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

Latest News

Featured

Around The Web