शादी से मना करने पर गर्लफ्रैंड ने बॉयफ्रेंड का गला काट लाश को सूटकेस में भरा था, अब हुआ नया खुलासा

आरोपी प्रीति शर्मा ने दीपक यादव नाम के शख्स से शादी की थी
 | 
ss
पुलिस के मुताबिक प्रीति लंबे समय से फिरोज पर शादी करने का दबाव बना रही थी. लेकिन वो लगातार मना कर रहा था. 6 अगस्त की रात को भी प्रीति ने शादी करने की बात कही इस बार भी फिरोज ने मना कर दिया. जिसके बाद प्रीति ने अपनी दोस्त के साथ मिलकर घर में रखे उस्तरे से फिरोज का गला काट दिया.

लखनऊ - हाल ही में उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में सूटकेस में लाश मिलने वाले मामले में नया खुलासा हुआ है. इस मामले में पुलिस ने जांच के बाद बताया है कि गर्लफ्रैंड ने जब उसके बॉयफ्रेंड की हत्या की थी उस दौरान उसकी सहेली भी घर मे मौजूद थी. पुलिस ने आरोपी महिला को तब पकड़ा था जब वो हत्या के बाद उसके बॉयफ्रेंड की लाश को ठिकाने लगाने जा रही थी. हालांकि आरोपी महिला की दोस्त अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. पुलिस का कहना है कि दूसरी महिला की भी तलाश की जा रही है.

ss

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मामला जिले के टीला मोड़ पुलिस स्टेशन का है. यहां तुलसी निकेतन में मृतक फिरोज अपनी गर्लफ्रैंड प्रीति शर्मा के साथ लिव इन रिलेशनशिप(Live In Relationship Crime) में रह रहा था. आरोप है कि 6 व 7 अगस्त के बीच की रात को प्रीति ने फिरोज की गला रेत कर हत्या कर दी थी. पुलिस ने जांच में पाया कि आरोपी प्रीति शर्मा ने दीपक यादव नाम के शख्स से शादी की थी. लेकिन शादी के 4 साल उसने अपने पति को छोड़ दिया था और दिल्ली में फिरोज के साथ रहने लगी थी. इसके बाद दोनों गाजियाबाद के तुलसी निकेतन में शिफ्ट हो गए. 

पुलिस के मुताबिक प्रीति लंबे समय से फिरोज पर शादी करने का दबाव बना रही थी. लेकिन वो लगातार मना कर रहा था. 6 अगस्त की रात को भी प्रीति ने शादी करने की बात कही इस बार भी फिरोज ने मना कर दिया. जिसके बाद प्रीति ने अपनी दोस्त के साथ मिलकर घर में रखे उस्तरे से फिरोज का गला काट दिया. दरअसल फिरोज पेशे से हेयर ड्रेसर था. वो घर पर भी हेयर कटिंग का सामान रखता था.

फिरोज की हत्या करने के बाद प्रीति ने अपनी दोस्त के साथ मिलकर 7 अगस्त को दिल्ली के सीलमपुर से एक बड़ा ट्रॉली बैग खरीदा. दरअसल प्रीति का प्लान था कि वो फिरोज की बॉडी को बैग में रखकर किसी ट्रेन में रख देगी. जिसके बाद ट्रेन के साथ फिरोज की लाश भी किसी दूसरे शहर में मिलेगी. वहां फिरोज को कोई पहचान नहीं पायेगा जिससे किसी को भी उसपर शक नहीं होगा.

s

7 अगस्त की रात को प्रीति फिरोज की लाश को बैग में भरकर ले जा रही थी. लेकिन रात को गश्त लगा रही पुलिस को उसपर शक हुआ. पुलिस ने मुताबिक उन्होंने रात को एक महिला इतना बड़ा बैग अकेले ले जा रही थी. इसलिए उन्होंने उसकी तलाशी ली. पुलिस को देखकर प्रीति घबरा गई और छुपने की भी कोशिश की लेकिन वो पकड़ी गई. इसके बाद पुलिस ने ट्रॉली बैग को खोला(Police Found Dead Body In trolly Bag In Gaziabad) तो उनके होश उड़ गए. उन्हें अंदर एक लाश मिली. इसके बाद उन्होंने प्रीति को गिरफ्तार कर लिया.

Latest News

Featured

Around The Web