एचएयू के छात्र वत्सल का नीदरलैंड की यूनिवर्सिटी में हुआ चयन

विश्व में कृषि विज्ञान में अग्रणी विश्वविद्यालयों में है शुमार
 | 
HAU
एचएयू के विश्व प्रसिद्ध विदेशी शिक्षण संस्थानों में उच्च शिक्षा के लिए जाने वाले विद्यार्थियों में एक और नाम जुड़ गया है। इस विश्वविद्यालय के बीएससी (ऑनर्स) एग्रीकल्चर के छात्र वत्सल अरोड़ा को कृषि विज्ञान में अग्रणी नीदरलैंड (यूरोप) की वागनिंगन यूनिवर्सिटी एंड रिसर्च सेंटर में दाखिला मिला है।

हिसार - चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के विश्व प्रसिद्ध विदेशी शिक्षण संस्थानों में उच्च शिक्षा के लिए जाने वाले विद्यार्थियों में एक और नाम जुड़ गया है। इस विश्वविद्यालय के बीएससी (ऑनर्स) एग्रीकल्चर के छात्र वत्सल अरोड़ा को कृषि विज्ञान में अग्रणी नीदरलैंड (यूरोप) की वागनिंगन यूनिवर्सिटी एंड रिसर्च सेंटर में दाखिला मिला है। वहां वे दो साल पादप विज्ञान में एमएससी डिग्री के लिए शिक्षा व शोध करेंगे। उल्लेखनीय है कि वत्सल को कोपेहेगन विश्वविद्यालय, स्वीडिश कृषि विश्वविद्यालय और स्टॉकहोम विश्वविद्यालय में भी दाखिले के लिए स्वीकृति प्राप्त हुई है लेकिन उन्होंने वागनिंगन यूनिवर्सिटी, नीदरलैंड को चुना है।
 

HAU

विज्ञान की समृद्ध परंपरा को मिल रहा बढ़ावा - कुलपति प्रो. बी.आर. काम्बोज
कुलपति प्रो. बी.आर. काम्बोज ने वत्सल अरोड़ा की इस उपलब्धि के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में विज्ञान में उत्कृष्टता को बढ़ावा देने की एक समृद्ध परंपरा है। इसी के परिणामस्वरूप यहां के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के लिए न केवल विदेशी विश्वविद्यालयों में दाखिलें के अवसर मिलते हैं अपितु यहां के अनेक विद्यार्थी विदेशों में रोजगार प्राप्त कर अपनी योग्यता व दक्षता सिद्ध कर विश्वविद्यालय का नाम रोशन कर रहे हैं। उन्होंने कहा अपने उच्च शैक्षणिक व अनुसंधान मानकों के कारण आज यह विश्वविद्यालय विश्व स्तर के विश्वविद्यालयों में शुमार है। इसलिए हर साल अनेक विदेशी विद्यार्थी शिक्षा के लिए यहां आ रहे हैं। उन्होंने बताया गत तीन माह में उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने वालों में वत्सल अरोड़ा 8वें विद्यार्थी हैं।  

HAU
 

वत्सल सहशैक्षणिक गतिविधियों में भी रहा आगे
करनाल के रहने वाले वत्सल भारतीय अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव में उपविजेता का पुरस्कार जीतकर अपनी योग्यता साबित कर चुके हैं और अंतर्राष्ट्रीय छात्र शिखर सम्मेलन में सर्वश्रेष्ठ परिचर्चा प्रतिभागी भी घोषित किए जा चुके हैं। उन्होंने कई इंटर-यूनिवर्सिटी फेस्ट में विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व किया है। वत्सल ने आईईएलटीएस परीक्षा में आठ बैंड और जी.आर.ई. परीक्षा में 319 अंक प्राप्त किए हैं जिससे उपरोक्त विश्वविद्यालयों में उनकी उम्मीदवारी और भी मजबूत हुई है। वत्सल विश्व के बेहतरीन विश्वविद्यालय में अनुभव हासिल करके भारत में शिक्षक बनने की इच्छा रखते हैं। 

Latest News

Featured

Around The Web