HBSE Board Result: हरियाणा बोर्ड ने रोका 10वीं और 12वीं कक्षा का रिजल्ट, जानिए वजह

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह, उपाध्यक्ष वी पी यादव और सचिव कृष्ण कुमार ने संयुक्त रूप से प्रेस वार्ता कर इस बात की जानकारी दी।
 | 
एचबीएसई
डॉ. जगबीर सिंह ने जानकारी दी कि जिन विद्यालयों की तरफ से एसएलसी/प्रमाण पत्र की प्रतियां एनरोलमेंट रिटर्न के साथ बोर्ड कार्यालय में जमा नहीं करवाई गई। उनके परिणाम आरएलई घोषित किए जा रहे हैं।

भिवानी : हरियाणा बोर्ड 10वीं और 12वीं के नतीजों का इंतजार कर रहे छात्र-छात्राओं के लिए जरूरी खबर है। दरअसल हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने बोगस एसएलसी/प्रमाण पत्र के चलते कई विद्यालयों के परिणाम रद्द कर दिए है। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह, उपाध्यक्ष वी पी यादव और सचिव कृष्ण कुमार ने संयुक्त रूप से प्रेस वार्ता कर इस बात की जानकारी दी।

प्रेस वार्ता में खुलासा किया गया कि सैकेंडरी के जिला भिवानी के 17, चरखी दादरी के 2, फरीदाबाद के 5, फतेहाबाद के 11, गुरुग्राम का 1, हिसार के 6, जींद के 6, झज्जर का 1, कैथल का 1, कुरूक्षेत्र का 1, महेंद्रगढ़ के 2, नूंह के 3, पलवल के 7, रोहतक का 1, रेवाड़ी के 3, सोनीपत के 17, यमुनानगर का 1, और सिरसा जिले के 15 विद्यालयों के परिणाम रद्द किए गए है।

इसी के साथ सीनियर सैकेंडरी के जिला फतेहाबाद के 10, गुरुग्राम का 1, हिसार के 5, जींद का 1, करनाल का 1, कुरुक्षेत्र का 1, मंहेंद्रगढ़ के 3, पलवल के 4, रोहतक के 2, सोनीपत के 6 और जिला सिरसा के 8 विद्यार्थयों के परिणाम बोगस एसएलसी/प्रमाण पत्र के चलते रद्द कर दिए है।

डॉ. जगबीर सिंह ने बताया कि परीक्षार्थियों के एसएलसी व प्रमाण पत्रों का प्रत्यक्ष सत्यापन करवाने के लिए बोर्ड के अधिकारियों का गठन करते हुए विभिन्न राज्य यूपी, राजस्थान, पंजाब, झारखंड, उतराखंड, गुजरात और चंडीगढ़ में भेज कर युद्धस्तर पर अभियान चलाते हुए सत्यापन का कार्य करवाया गया। इसके अलावा बिहार, एमपी, पश्चिम बंगाल और नेपाल आदि के परीक्षार्थियों के एसएलसी/प्रमाण पत्र का सत्यापन ई-मेल के माध्यम से किया गया।

डॉ. सिंह ने बताया कि सत्यापन करवाने के बाद 10वीं कक्षा के 92 अराजकीय स्थाई/अस्थाई मान्यता प्राप्त विद्यालयों के 778 और 8 राजकीय विद्यालयों के 14 परीक्षार्थियों की एसएलसी/प्रमाण पत्र बोगस पाए गए हैं। इसी प्रकार 12वीं कक्षा के 40 अराजकीय स्थाई/अस्थाई मान्यता प्राप्त विद्यालयों के 73 और 2 राजकीय विद्यालयों के 2 परीक्षार्थियों की एसएलसी/प्रमाण पत्र बोगस पाए गए हैं।

इसके साथ ही डॉ. जगबीर सिंह ने जानकारी दी कि जिन विद्यालयों की तरफ से एसएलसी/प्रमाण पत्र की प्रतियां एनरोलमेंट रिटर्न के साथ बोर्ड कार्यालय में जमा नहीं करवाई गई। उनके परिणाम आरएलई घोषित किए जा रहे हैं। जिनकी संख्या सैकेंडरी के 1741 और सीनियर सैकेंडरी में 841 बनती है।

Latest News

Featured

Around The Web