हुड्‌डा बोले- आदमपुर में सर्वे के बाद देंगे टिकट, किरण ने किसे वोट दिया मुझे पता नहीं

मसूदपुर गांव में पूर्व विधायक रामभगत शर्मा के निवास पूर्व पर सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने जनसभा को संबोधित 
 | 
पूर्व सीएम हुड्‌डा
हुड्‌डा ने कहा कि हर आदमी अपना फैसला लेने को स्वतंत्र है।  आदमपुर चुनाव कांग्रेस जीतेगी। कांग्रेस मजबूत है।  आदमपुर उप चुनाव में कांग्रेस नेता जयप्रकाश को टिकट देने के सवाल पर हुड्डा ने कहा कि पार्टी सर्वे करवाएगी, जो जीतने वाला होगा, उसे टिकट देंगे। टिकट के लिए किसी को हां नहीं भरी।

हिसार- पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने रविवार को  मसूदपुर गांव में पूर्व विधायक रामभगत शर्मा के निवास जनसभा को संबोधित कर रहे थे।  कुलदीप बिश्नोई के सवाल पर हुड्‌डा ने कहा कि हर आदमी अपना फैसला लेने को स्वतंत्र है।  आदमपुर चुनाव कांग्रेस जीतेगी। कांग्रेस मजबूत है।  आदमपुर उप चुनाव में कांग्रेस नेता जयप्रकाश को टिकट देने के सवाल पर हुड्डा ने कहा कि पार्टी सर्वे करवाएगी, जो जीतने वाला होगा, उसे टिकट देंगे। टिकट के लिए किसी को हां नहीं भरी।

पूर्व सीएम हुड्‌डा

हुड्‌डा ने कहा कि हमारी सरकार में पंजाब में युवा पीढी बर्बाद होते देख हम खेल पॉलिसी लेकर आए थे कि हमारी युवा पीढ़ी न बर्बाद हो जाए। आज हरियाणा में गठबंधन स्वार्थ का है। यह स्वयं सेवा के लिए है। चुनाव में एक तो कह रहे थे कि एक तो कह रहे थे कि हम 75 पार करेंगे। दूसरे कह रहे थे कि इन्हें यमुना पार करेंगे। परंतु चुनाव के बाद दोनों यार हो गए। 

पूर्व सीएम हुड्‌डा ने किरण चौधरी के उस बयान पर कि उसके विरोधी उसे पार्टी से निकालना चाहते हैं, पर जवाब दिया कि उसे नहीं पता कि किरण को कौन निकालना चाहता है। किरण चौधरी के अजय माकन को वोट न डालने के सवाल के जवाब पर कहा कि हमारी पार्टी के पोलिंग एजेंट और जो अधिकृत एजेंट थे, वे ही बता सकते हैं कि किसने किसे वोट दिया। 

हुड्‌डा ने कहा कि हमारी सरकार में पंजाब में युवा पीढी बर्बाद होते देख हम खेल पॉलिसी लेकर आए थे कि हमारी युवा पीढ़ी न बर्बाद हो जाए। आज हरियाणा में गठबंधन स्वार्थ का है। यह स्वयं सेवा के लिए है। चुनाव में एक तो कह रहे थे कि एक तो कह रहे थे कि हम 75 पार करेंगे। दूसरे कह रहे थे कि इन्हें यमुना पार करेंगे। परंतु चुनाव के बाद दोनों यार हो गए। 

हुड्‌डा ने कहा कि समय आएगा तो ये कानून भी वापस होगा। जैसे कृषि कानून वापस हुआ है।चौथे साल सोचने लग जाएगा कि मेरा क्या होगा। फौज देश के लिए जरूरी है। रशिया में फौज में 4 साल ट्रेनिंग दी जाती है, परंतु अपने यहां 4 साल में घर भेज दिए जाएंगे। हुड्‌डा ने कहा कि केंद्र सरकार अग्निपथ लेकर आई। जिसमें अग्निवीर 18 साल का भर्ती होगा और 22 साल की उम्र में रिटायर्ड। 4 साल में 6 महीने की ट्रेनिंग, 6 महीने की छुट्‌टी, दो साल नौकरी करेगा।   


 


 

Latest News

Featured

Around The Web