कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम का आरोप, ‘जनसंहारक हथियार’ बन गयी है ईडी

कार्ति चिदंबरम ने नेशनल हेराल्ड अखबार के मुख्यालय और कुछ अन्य स्थानों पर छापेमारी की पृष्ठभूमि में यह टिप्पणी की.
 | 
कार्ति चिदंबरम
कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने मंगलवार को दावा किया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ''सामूहिक विनाश का हथियार'' बन गया है और ईडी की पूरी कवायद केवल राजनीतिक विरोधियों को शर्मिंदा करने या अपमानित करने के लिए है.

नई दिल्ली - कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने मंगलवार को दावा किया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) जनसंहारक हथियारबन गया है. उन्होंने नेशनल हेराल्डअखबार के मुख्यालय और कुछ अन्य स्थानों पर छापेमारी की पृष्ठभूमि में यह टिप्पणी की.

कार्ति चिदंबरम ने आरोप लगाया, ‘‘ईडी अब जनसंहारक हथियार बन गया है. ईडी की पूरी कार्रवाई राजनीतिक विरोधियों को शर्मसार करने या अपमानित करने के लिए है.’’ उन्होंने यह भी कहा कि ये कार्रवाई उस लेनदेन को लेकर की जा रही है, जिनका खाता पुस्तिकाओं में उल्लेख है और जिनके संबंध में आयकर रिटर्न भी दाखिल किया गया है.

ईडी की तुलना पूर्वी जर्मनी के स्टासी और नाजी जर्मनी के शुट्ज़स्टाफ़ेल से करते हुए, चिदंबरम ने कहा, "दूसरे विश्व युद्ध के दौरान, स्टासी का इस्तेमाल पूर्वी जर्मनी के लिए हैचेट एजेंसी के रूप में और नाज़ी जर्मनी द्वारा शुट्ज़स्टाफ़ेल द्वारा किया गया था. जब इस देश का इतिहास लिखा जाएगा, तो ईडी होगा. बीजेपी की हैचर एजेंसी के रूप में जानी जाती है."

चिदंबरम ने कहा, "मुझे कोई कारण नहीं दिख रहा है कि कोई एजेंसी 12 साल बाद परिसरों पर छापा क्यों मारना चाहेगी. यहां तक कि कानून द्वारा भी, आपको आठ साल से अधिक वित्तीय रिकॉर्ड रखने की आवश्यकता नहीं है. इसलिए यह केवल कुछ लोगों की दृश्यता के आनंद के लिए है जो चाहते हैं विपक्ष को कुचले, अपमानित और प्रताड़ित होते देखने के लिए.

बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन मामले की जांच के तहत कांग्रेस के स्वामित्व वाले नेशनल हेराल्डसमाचार पत्र के मुख्यालय सहित यहां 12 स्थानों पर मंगलवार को छापा मारा. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि धन शोधन (निवारण) अधिनियम (पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं के तहत छापे मारे जा रहे हैं.

Latest News

Featured

Around The Web