हरियाणा सरकार के पुलिस, स्वास्थ्य, शिक्षा, वन, बिजली और रोडवेज जैसे प्रमुख विभागों में 88 हजार से अधिक पद खाली - अभय चौटाला

सच्चाई यह है कि वास्तव में प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है और बेरोजगारी दर 30 प्रतिशत से अधिक है
 | 
अभय चौटाला
भाजपा ने 8 साल के शासनकाल में जितनी भी सरकारी नौकरियां निकाली हैं उनमें से अधिकतर भ्रष्टाचार और धांधलियों के चलते कोर्ट केस में अटकी पड़ी हैं।

चंडीगढ़ - बेरोजगारी पर सर्वे रिपोर्ट जारी करने वाली एजेंसी CMIE ने पिछले महीने हरियाणा में 30% से अधिक बेरोजगारी दर के आंकड़े जारी किए थे। CMIE एजेंसी द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार हरियाणा में बेरोजगारी दर पूरे देश में सबसे अधिक थी। इन आंकड़ों को सीएम मनोहर लाल खट्टर द्वारा गलत बताने और हरियाणा में बेरोजगारी दर 8% बताने वाले बयान की ऐलनाबाद विधायक अभय सिंह चौटाला ने कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि ऐसा झूठा और भ्रमित बयान देकर सीएम ने प्रदेश के योग्य बेरोजगार युवाओं के साथ भद्दा मजाक किया है। 

अभय चौटाला ने कहा कि सीएम द्वारा हरियाणा में बेरोजगारी दर 8% बताया जाना वास्तविकता से परे है। सच्चाई यह है कि वास्तव में हरियाणा में बेरोजगारी चरम पर है और बेरोजगारी दर 30% से अधिक है। प्रदेश की गठबंधन सरकार साजिश के तहत सरकारी नौकरियों को खत्म करती जा रही है। भाजपा ने 8 साल के शासनकाल में जितनी भी सरकारी नौकरियां निकाली हैं उनमें से अधिकतर भ्रष्टाचार और धांधलियों के चलते कोर्ट केस में अटकी पड़ी हैं। भाजपा गठबंधन सरकार नौकरियां देने के बजाय उलटा कई सालों से नौकरी कर रहे युवाओं को हटा रही है।

गठबंधन सरकार के प्रमुख विभागों में खाली पदों का ब्यौरा जारी करते हुए इनेलो नेता ने कहा कि पुलिस विभाग में कुल पद 71069 हैं जिसमें 20839 पद खाली हैं, स्वास्थ्य विभाग में कुल पद 23607 हैं जिसमें 9046 पद खाली हैं, शिक्षा विभाग में कुल पद 149624 हैं जिसमें 44924 पद खाली हैं, वन विभाग में कुल पद 4504 हैं जिसमें 1814 पद खाली हैं, बिजली विभाग में कुल पद 35 हजार हैं जिसमें 5000 पद खाली हैं, रोडवेज विभाग में कुल पद 22 हजार हैं जिसमें 6500 पद खाली हैं। यही आंकड़े उन्होंने विधान सभा में भी प्रस्तुत किए थे, इनके अलावा अन्य और भी विभाग हैं जिनमें हजारों पद खाली पड़े हैं।

Latest News

Featured

Around The Web