CM एकनाथ शिंदे का 'बुलेट ट्रेन' को ग्रीन सिग्नल, महाराष्ट्र और गुजरात को आपस में जोड़ेगी

पहली बुलेट ट्रेन देश के पश्चिमी राज्यों महाराष्ट्र और गुजरात को आपस में जोड़ेगी. यह मुंबई के बांद्रा कुर्ला से 508 किलोमीटर का सफर तय कर अहमदाबाद पहुंचेगी.
 | 
बुलेट ट्रेन
अहमदाबाद से मुंबई की दूरी को कम करने वाले बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर अब महाराष्ट्र में भी काम तेज होने की उम्मीद है. एकनाथ शिंदे सरकार ने इस प्रोजेक्ट में तेजी का फैसला लिया है. कैबिनेट की बैठक के बाद महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इसकी जानकारी दी.

मुंबई - प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) के ड्रीम प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन (Bullet Train) को लेकर महाराष्ट्र की एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) सरकार ने अधिकारियों को सभी इजाजत दे दी है. गुजरात के अहमदाबाद से मुंबई की दूरी को कम करने वाले बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर अब महाराष्ट्र में भी काम तेज होने की उम्मीद है.

इससे पहले पिछले ढाई सालों से महा विकास आघाडी सरकार बुलेट ट्रेन का विरोध कर रही थी, जिसकी वजह से महाराष्ट्र के हिस्से का काम काफी प्रभावित था. वहीं महाराष्ट्र में हुए सत्ता परिवर्तन के बाद नए एकनाथ शिंदे की लीडरशिप वाली सरकार ने इस प्रोजेक्ट की बाधाओं को दूर करने का फैसला लिया है, जिससे बुलेट परियोजना के फास्ट ट्रैक पर आने की उम्मीद जताई जा रही है.

हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड के पूर्व एमडी सतीश अग्निहोत्री ने इस संबंध में महाराष्ट्र के चीफ सेक्रेटरी को पत्र भी लिखा था. इसमें उन्होंने कुल 16 मुद्दे गिनाए थे, जिन्हें दूर करने पर बुलेट ट्रेन परियोजना के काम में तेजी आ सकती है. इनमें से कई मसलों को एकनाथ शिंदे की लीडरशिप वाली सरकार ने दूर कर दिया है.

बता दें कि भारत की पहली बुलेट ट्रेन अहमदाबाद से मुंबई बनाने का एलान प्रधानमंत्री मोदी ने अपने पहले कार्यकाल में किया था, लेकिन बुलेट ट्रेन के बनने की राह में पिछले ढाई सालों से रेड सिग्नल लगे थे. प्रधानमंत्री मोदी के सपने को पूरा करने में सबसे अहम काम है जमीन का अधिग्रहण. गुजरात में जमीन अधिग्रहण 90 परसेंट पूरा हो चुका है.

हालांकि महाराष्ट्र की तत्कालीन महा विकास आघाडी सरकार की आंखों में मोदी का यह प्रोजेक्ट चुभ रहा था. यही वजह थी कि नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन के लिए महाराष्ट्र में जमीन अधिग्रहित कर पाना टेढ़ी खीर साबित हो रहा था. नई सरकार द्वारा दी गई इजाजत के बाद अब उम्मीद की जा रही है की बुलेट ट्रेन का काम भी उसी रफ्तार से होगा, जिसके लिए यह ट्रेन जानी जाती है.

देश की पहली बुलेट ट्रेन देश के पश्चिमी राज्यों महाराष्ट्र और गुजरात को आपस में जोड़ेगी. यह मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्पलेक्स से शुरू होकर 508 किलोमीटर का सफर तय कर अहमदाबाद पहुंचेगी. इस प्रोजेक्ट के लिए जापान की बैंक ने सॉफ्ट लोन भी दिया है. 508 किलोमीटर लंबे इस रूट में महाराष्ट्र में 155 किलोमीटर का रूट होगा. महाराष्ट्र के मुंबई ठाणे और पालघर जिले से होकर ये गुजरेगा.

अब तक इस प्रोजेक्ट के लिए कुल 90.56 फीसदी जमीन अधिग्रहित कर ली गई है. गुजरात में अब तक 98.8 पर्सेंट जमीन मिल गई है, जबकि दादर एवं नगर हवेली में 100 फीसदी का अधिग्रहण हो चुका है. इस मामले में भी सबसे पीछे अब तक महाराष्ट्र ही है, जहां 72.25% जमीन की ही खरीद हो सकी है.

Latest News

Featured

Around The Web