सीएम ममता बनर्जी ने फिर बुलाई कैबिनेट बैठक, मंत्रिमंडल में फेरबदल की सुगबुगाहट तेज

स्कूल भर्ती घोटाले के बाद आज पश्चिम बंगाल सरकार की कैबिनेट में बड़ा फेरबदल हो सकता है.
 | 
ममता बनर्जी
स्कूल सेवा आयोग भर्ती घोटाले में अरेस्ट पार्थ चटर्जी को कैबिनेट के हटाने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंत्रिमंडल में बदलाव कर सकती हैं. ममता बनर्जी सभी मंत्रियों से इस्तीफा लेकर नए सिरे से मंत्रिमंडल गठित करने का फैसला ले सकती हैं.

कोलकाता – पश्चिम बंगाल के स्कूल भर्ती घोटाले (WBSSC Scam) के मामले में उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी (Partha Chaterjee) की गिरफ्तारी के बाद पश्चिम बंगाल सरकार (Government of West Bengal) की कैबिनेट में आज बड़ा फेरबदल हो सकता है. सीएम ममता बनर्जी ने आज फिर कैबिनेट की बैठक बुलाई है. इसके बाद चर्चा का बाजार गर्म हो गया है.

राजनीतिक जानकारों का कहना है कि बनर्जी सरकार अपने मंत्रियों से एक साथ इस्तीफा लेकर नए सिरे मंत्रिमंडल गठित कर सकती है. टीएमसी के कुछ नेताओं का मानना है कि मौजूदा हालात को देखते हुए बेहतर होगा कि कैबिनेट को बदल दिया जाए. पार्टी सूत्रों की माने तो यह फेरबदल पार्टी की छवि बदलने के मकसद से किया जा रहा है. इस बैठक में नए मंत्रियों के नाम शामिल किए जाने की भी संभावना है.

नए मंत्रियों के शामिल होने की लिस्ट में जिन नामों पर चर्चा हो रही है उनमें सबसे पहले बीजेपी के पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो शामिल हैं. केन्द्र सरकार में रहने के कारण बाबुल के पास सरकार का एक्सपीरियंस भी है. बाबुल इसी साल बालीगंज विधानसभा से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार बनाकर जीत कर विधानसभा पहुंचे हैं.

अब तक TMC के खिलाफ़ आवाज उठाने वाले बाबुल सुप्रियो हो सकता है ममता के कैबिनेट में मंत्री बने. इनके अलावा पार्थ भौमिक और तापस राय ये दोनों का नाम भी लिस्ट में शामिल हैं. तापस रॉय सांसद माला रॉय के पति और विधायक हैं तो वही पार्थ भौमिक क़द्दावर नेताओं में गिने जाते हैं जिनकी ज़मीन पर बहुत अच्छी पकड़ है.

हालांकि यह पहला मौक़ा है जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कैबिनेट फेरबदल को लेकर चुप्पी साधी है. उन्होंने अबतक इस फेरबदल की चर्चा किसी करीबी नेता के साथ भी नहीं की है. पार्थ चटर्जी के पास जितने विभाग थे. वे फिलहाल मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पास हैं. इसलिए मंत्रियों के बीच जिम्मेदारियों का वितरण करना जरूरी है.

पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी के पास तीन मंत्रालय थे- उद्योग, IT और पार्लियामेंट्री अफ़ेयर्स. सूत्रों की मानें तो इस बार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपने कैबिनेट में ये फेरबदल कुछ नए अंदाज़ में कर सकती है जिसमें हो सकता है अधिकतर से इस्तीफ़ा भी मांग लिया जाए और नए चेहरे शामिल किए जाए. बता दें पार्थ मंत्री के साथ पार्टी के महासचिव थे.

Latest News

Featured

Around The Web