400 CCTV कैमरों की निगरानी में होगी कावड़ यात्रा, 10 हजार पुलिसकर्मी, 11 SP और 38 DSP तैनात

सावन के पवित्र महीने में भगवान भोले को खुश करने के लिए कांवड़ियों की बम भोले की जयकार काशी से हरिद्वार तक सुनाई दे रही है.
 | 
कावड़ यात्रा
गुरुवार से सावन महीने की शुरुआत हो रही है. जिसके बाद कांवड़ यात्रा भी शुरू हो गई है. हरिद्वार में हजारों शिव भक्तों का जमावड़ा लगने लगा है.लिहाजा इनकी सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं. हरिद्वार में 400 CCTV कैमरों से निगरानी की जा रही है.

हरिद्वार - आज से शिव जी के पावन माह सावन की शुरुआत हो चुकी है. चारों तरफ बम-बम भोली की गूंज है. कावड़ यात्रा की आज से शुरुआत हो चुकी है. भगवान भोले के जयकारे काशी से हरिद्वार तक सुनाई दे रहे हैं. हरिद्वार में हजारों शिव भक्तों का जमावड़ा लगा है जिसके चलते सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं.

बता दें कि कांवड़ यात्रा 26 जुलाई तक चलेगी और इस दौरान हर तरफ बम भोले की गूंज सुनाई देगी. जानकारी अनुसार हरिद्वार में 400 CCTV कैमरों से निगरानी की जा रही है. 10 हजार पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है. 11 पुलिस अधीक्षकों को यात्रा की सुरक्षा की जिम्मेदारी मिली है. वहीं 38 डीएसपी मेला क्षेत्र की सुरक्षा में तैनात हैं.

कोरोना काल के 2 साल के बाद इस बार कांवड़ मेला आयोजित हुआ है. जिसको लेकर लोगों में खासा उत्साह है. इस बार कई प्रदेशों से लगभग 4 करोड़ शिव भक्त हरिद्वार से गंगाजल भरकर अपने गंतव्य की ओर रवाना होंगे. वहीं इस यात्रा को गंभीरता से लेते हुए डीजीपी अशोक कुमार ने अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की.

समीक्षा बैठक के बाद डीजीपी अशोक कुमार ने मां गंगा की आरती में भाग लिया. डीजीपी उत्तराखंड अशोक कुमार ने कहा, 'हरिद्वार से लेकर के नीलकंठ तक पूरे कांवड़ मेला क्षेत्र में 10,000 पुलिस फोर्स लगाई गई है. पूरे मेला क्षेत्र को 18 सुपर जॉन 41 जॉन और 175 सेक्टर में बांटा गया है और पूरे मेले की हमने बहुत अच्छी तरह से व्यवस्था की है.

डीजीपी ने बताया कि केंद्र से भी उन्हें सशस्त्र बलों की 6 पैरामिलिट्री फोर्स की कंपनियां भी मिली हैं. अशोक कुमार ने बताया कि कांवड़ मेले में डीजे पर प्रतिबंध रहेगा. उन्होंने जनता से अपील कर कहा कि हरिद्वार क्षेत्र बहुत लिमिटेड है. इसलिए लोगों की शांति के लिए, गंगा जी की पवित्रता के लिए, मर्यादा के लिए तेज वॉल्यूम में कुछ भी नहीं बजाएंगे.

डीजीपी ने कहा, शिव भक्तों से हमारी अपील है कि हरिद्वार के 10 किलोमीटर क्षेत्र में डीजे ना बजाएं. अशोक कुमार ने बताया, हमने कांवड़ियों के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का लिंक जारी किया है. उसमें लोग रजिस्ट्रेशन करेंगे तो उनकी ही सुविधा है. हमें पता रहेगा अगर कोई घटना हो गई या कोई खो गया, मिसिंग हो गया कहीं उसे ढूंढ रहे हुए तो उसकी जानकारी मिल जाएगी.

उनके रजिस्ट्रेशन से उनके परिवार वालों का मोबाइल नंबर मिल जाएगा और उनको सूचना कर दिया जाएगा. उत्तराखंड पुलिस ने अपने पेज पर भी वेबसाइट का लिंक डाला हुआ है. उत्तराखंड से लगे बॉर्डर पर भी हमारी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है और अतिरिक्त पुलिस फोर्स भी लगाया गया है. चप्पे-चप्पे पर हमारी नजर है हर जगह सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं ड्रोन भी लगे हैं.

डीजीपी ने कहा, अगर कोई हुड़दंग मचाने की कोशिश करेगा तो वह बचकर नहीं जा पाएगा. सरकार और प्रशासन का दावा है कि इस बार के मेले में लगभग चार करोड़ से ज्यादा शिवभक्त हरिद्वार पहुंचेंगे जिस वजह से हरिद्वार एक पख़वाड़े तक शिव मय रहेगा. वहीं शिव भक्तों का कहना है कि वह मनोकामनाओं के लिए हरिद्वार से जल लेकर अपने शिवालय में आए हैं.

Latest News

Featured

Around The Web