जबलपुर के अस्पताल में लगी भीषण आग, 8 लोगों की मौत, CM शिवराज ने किया मुआवजे का एलान

आग लगने की खबर मिलते ही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जबलपुर के कलेक्टर से फोन पर बातचीत की.
 | 
अस्पताल में लगी आग
मध्य प्रदेश के जबलपुर में अस्पताल में भीषण आग लग गई. एक घंटे की कवायद के बाद आग पर काबू पाया गया. आग की खबर मिलते ही पूरे अस्पताल में भगदड़ मच गई. हर तरफ अफरा तफरी का माहौल हो गया.

जबलपुर - मध्य प्रदेश के जबलपुर में एक निजी अस्पताल में भीषण अग्निकांड में 8 मरीजों की मौत हो गई. दिल दहला देने वाली यह घटना जबलपुर के न्यू लाइफ हॉस्पिटल की है. आग की खबर मिलते ही पूरे अस्पताल में भगदड़ मच गई. हर तरफ अफरा तफरी का माहौल हो गया. इस घटना की खबर तुरंत दमकल विभाग को दी गई. जिसके बाद दमकल की टीम मौके पर पहुंची.

बताया जा रहा है कि मरने वालों में अधिकांश लोग हॉस्पिटल के स्टाफ के हैं. आधा दर्ज दमकल वाहनों ने एक घंटे की कवायद के बाद आग को काबू में किया. घटना के बाद अस्पताल में अफरातफरी फैल गई. अस्पताल में भर्ती मरीजों को दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट किया गया. पार्षद के मुताबिक इस घटना में अब तक 8-9 मरीजों की जान चली गई है.

अस्पताल में आग लगने की खबर मिलते ही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जबलपुर के कलेक्टर से फोन पर बातचीत की. अस्पताल में आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है. पार्षद के मुताबिक मरने वालों में मरीजों के साथ ही दो नर्सिंग स्टाफ भी शामिल हैं. बाकी तीन लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है.

घटना पर राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया, "राज्य सरकार की ओर से मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये की सहायता प्रदान की जायेगी. घायलों के संपूर्ण इलाज का व्यय भी सरकार वहन करेगी."

जबलपुर नगर निगम महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू ने 8 से 9 लोगों की मौत की पुष्टि की है. जबलपुर के दमोह नाका के शिव नगर के पास यह अस्पताल है. अस्पताल में आग भड़कने की खबर फैलते ही हर तरफ अफरातफरी मच गई. कलेक्टर एसपी समेत प्रशासनिक अमला तुरंत मौके पर पहुंच गया.अस्पताल में आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है.

दरअसल, अस्पताल से निकासी का एक ही रास्ता होने के कारण अधिकांश लोग अंदर ही फंस गए. आग ने देखते ही देखते विकराल रूप धारण कर लिया. दमकल के वाहन भी शुरुआत में आग पर काबू नहीं कर पा रहे थे. बाद में जब बिजली विभाग के कर्मचारियों ने बिजली कनेक्शन काटा तब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग को काबू में किया गया.

अस्पताल हादसे पर सीएम शिवराज सिंह ने दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि वह स्थानीय प्रशासन और कलेक्टर से लगातार संपर्क में हैं. मुख्य सचिव को पूरे मामले पर नजर बनाये रखने के निर्देश दिए गए हैं. राहत और बचाव की हरसंभव कोशिश की जा रही है.जानकारी के मुताबिक अस्पताल के ग्राउंड फ्लोर पर शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी है.

Latest News

Featured

Around The Web