राहत भरी खबर, विलुप्त होने के कगार पर बढ़ रहे इंडियन स्कीमर बर्ड की बढ़ी संख्या

घड़ियालों के घर में बढ़ रहा इंडियन स्क्रीमर का कुनबा, चंबल सेंक्चुरी में टूरिस्ट के लिए एक और आकर्षण
 | 
Birds
पिछले कुछ सालो में रेड जोन में पहुंच चुकी है इंडियन स्क्रीमर बर्ड की संख्या, आम बोलचाल की भाषा में इसे पनचिरा कहा जाता है। चंबल सेंचुरी में अनुकूल माहौल देखकर इंडियन स्कीमर का बड़े पैमाने पर हो रहा है प्रजनन। टूरिस्ट खींच रहे तस्वीरें।

लखनऊ. पिछले कई वर्षों से विलुप्त होने की कगार पर पहुंची पनचिरा के नाम से भी पहचान रखने वाली इंडियन स्क्रीमर बर्ड आजकल घड़ियालों के घर चंबल नदी के आसमान पर अपनी उड़ान से पर्यटकों को आकर्षित कर रही है। इस चिड़िया को चंबल का मौसम इस कदर रास आ गया है कि उन्होंने प्रजनन को यहीं ठिकाना बना लिया है। रेडजोन में शामिल इंडियन स्क्रीमर की 80 फीसदी तक आबादी चंबल का रुख करती है।

विलुप्त होने की कगार पर पहुंची इंडियन स्क्रीमर मार्च से अप्रैल तक अंडे देती है। बालू में घरौंदे बनाने वाला यह पक्षी एक बार में 1 से 4 अंडे तक देता है। अंडे हल्के मिट्टी जैसे कलर के होते है। इन पर काले धब्बे बन आते हैं। नर और मादा दोनों चोंच में पानी भर अंडों पर डालते रहते है ताकि गर्मी से बचाया जा सके। मई के अंत और जून के पहले सप्ताह में बच्चे उड़ान भरने को तैयार हो जाते हैं।

काला रंग और चोंच लाल, नर व मादा दिखने में एक जैसे लगते हैं। भोजन मछली, पानी में उड़ते समय शिकार करने में माहिर होती हैं ये। चोंच का ऊपरी भाग छोटा व नीचे का बड़ा और पैर गुलाबी कलर के होते हैं। इंडियन स्क्रीमर की संख्या इस समय चंबल सेंचुरी में 1742 के करीब है। इंडियन स्कीमर के बच्चे जन्म के समय भूरे रंग के होते हैं। वयस्क होने पर गुलाबी लंबी चोंच, गर्दन सफेद, गुलाबी पैर और काले रंग का धड़ होता है।

इंडियन स्क्रीमर का शिकार करने का अंदाज भी अलग ही होता है। छोटी मछलियां और कीट इनका शिकार होता है। नदी में शिकार के समय पंखों को तेजी से फैलाते हैं और चोंच खोलकर पानी को चीरते हुए झपट्टा मारकर शिकार करते हैं, इसी कारण इसे पनचिरा भी कहते हैं। जीव जंतु विशेषज्ञ सतेंद्र शर्मा कहते हैं कि चंबल क्षेत्र इंडियन स्क्रीमर को रास आ रहा है। यहीं वजह है कि यहां पर देश दुनिया में सबसे अधिक इनकी आबादी चंबल में ही है। और अब इनकी बढ़ती संख्या बेहद राहत देने वाली है।

Latest News

Featured

Around The Web