संजय राउत को मिला दस बाई दस का अलग बैरक, अलग से शौचालय और स्नान गृह भी मिला

जेल में संजय राउत पूरा दिन कुछ न कुछ लिखते और पढ़ते रहते हैं. राउत को कोर्ट के आदेश के मुताबिक, जेल में घर का खाना और दवाएं दी जाती हैं.
 | 
संजय राउत
मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों के चलते शिवसेना सांसद संजय राउत 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में हैं. उन्हें मुंबई की आर्थर रोड जेल में रखा गया है, साथ ही कैदी नंबर 8959 दिया गया है. संजय राउत की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उन्हें दस बाई दस का एक अलग बैरक मिला है.

मुंबई - पात्रा चॉल जमीन घोटाले (Patra Chawl Land Scam) से जुड़े कथित मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) की कार्रवाई के चलते शिवसेना (Shiv Sena) सांसद को 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. फिलहाल राउत मुंबई (Mumbai) की आर्थर रोड जेल (Arthur Road Jail) में हैं. जहां उन्हें दस बाई दस का एक अलग बैरक मिला है.

शिवसेना (Shiv Sena) सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. फिलहाल बाकी कैदियों की तरह राउत को भी कैदी नंबर दिया गया है. शिवसेना नेता राउत का कैदी नंबर 8959 (Sanjay Raut Prisoner Number 8959) है. बता दें कि ईडी ने राउत को कोर्ट (Court) में पेश किया था, जहां से उन्हें 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया.

सूत्रों के मुताबिक संजय राउत की सुरक्षा के मद्देनजर उन्हें दस बाई दस का एक अलग बैरक दिया गया है, जिसमें अलग से शौचालय और स्नान गृह भी है. इसके अलावा उन्हें बिस्तर और पंखा भी मिला है. वहीं उनकी बैरक के आसपास सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है. बता दें कि जेल में संजय राउत पूरा दिन कुछ न कुछ लिखते और पढ़ते रहते हैं.

दरअसल उन्होंने जेल प्रशासन से नोट बुक और पेन की डिमांड की थी, जिसे मंजूर कर लिया गया है. उन्होंने कई किताबों की मांग की थी, जिन्हें उपलब्ध कराया गया है. अब अक्सर दिन में वह कुछ लिखते रहते हैं. राउत जेल में रहकर महाराष्ट्र की राजनीतिक घटनाक्रम के बारे में समाचार माध्यमों से जानकारी रखते है. राउत को कोर्ट के आदेश के मुताबिक, घर का खाना और दवाएं दी जाती हैं.

संजय राउत से मिलने की इजाजत सिर्फ परिवार को दी गई है. हालांकि कुछ दिन पहले कुछ सांसद और विधायक राउत से मिलने जेल गए थे लेकिन उन्हें मिलने नहीं दिया गया था. जेल प्रशासन का कहना है की राउत से सिर्फ उनके परिवार के लोग ही मिल सकते हैं. इसके अलावा किसी और को अगर राउत से मिलना है तो उसे कोर्ट से इजाजत लेनी होगी.

Latest News

Featured

Around The Web