ट्रांसपोर्टेशन टेंडर घोटाला; राजा वड़िंग बोले- विजिलेंस दफ्तर आ रहे हैं लगा लेना हथकड़ियां

भारत भूषण आशू के समर्थन में आई कांग्रेस, पंजाब प्रदेश कांग्रेस के प्रधान राजा वड़िंग और प्रताप बाजवा ने की प्रैसवर्ता
 | 
ट्रांसपोर्टेशन टेंडर घोटाला;  प्रधान बोले- विजिलेंस दफ्तर आ रहे है लगा लेना हथकड़ियां
राजा वड़िंग ने कहा कि माल सारा शैलरों में गया है। एक-एक बोरी का हिसाब विभाग के पास है। मंत्री का काम है पॉलिसी बनाना। कैबिनेट से पॉलिसी मंजूर होती है और फिर हाईकोर्ट में चैलेज होती है, फिर मंजूर होकर लागू हो जाती है। इसके बाद टेंडर होते हैं, मंत्री का कोई रोल नहीं। 

लुधियाना - चंडीगढ़ में प्रेस वार्ता के दौरान पंजाब कांग्रेस प्रधान अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग और सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने कहा कि विजिलेंस आम आदमी पार्टी के इशारे पर काम न करे। पंजाब के लुधियाना जिले की अनाज मंडियों में हुए लेबर ट्रांसपोर्टेशन टेंडर घोटाले में पूर्व मंत्री भारत भूषण आशू का भी नाम आ रहा है। आशू साथ होंगे। जिन-जिन नेताओं की विजिलेंस को जरूरत है, उन्हें हथकड़ियां लगा लेना। पंजाब प्रदेश कांग्रेस के प्रधान राजा वड़िंग ने विजिलेंस को चेतावनी देते कहा कि सोमवार को 11 बजे तैयार रहें। बसें वगैरह मंगवा कर रखें। पूरे पंजाब से कांग्रेस नेता विजिलेंस दफ्तर पहुंच रहे हैं। 

ट्रांसपोर्टेशन टेंडर घोटाला;  प्रधान बोले- विजिलेंस दफ्तर आ रहे है लगा लेना हथकड़ियां


वहीं अब पूर्व मंत्री के समर्थन में प्रदेश कांग्रेस खड़ी हो गई है। आशू को मामले में नामजद करने की चर्चा पिछले 2 दिनों से चल रही है, जबकि विजिलेंस के किसी अधिकारी ने इसकी पुष्टि नहीं की। राजा वड़िंग कह रहे हैं कि सोमवार को विजिलेंस दफ्तर पहुंच रहे हैं।  राजा वड़िंग ने कहा कि DC के अंडर 4 साल टेंडर होते रहे। DC के साथ एक कमेटी बनती है। कैबिनेट से पॉलिसी मंजूर होती है और फिर हाईकोर्ट में चैलेज होती है, फिर मंजूर होकर लागू हो जाती है। इसके बाद टेंडर होते हैं, मंत्री का कोई रोल नहीं। 

उल्लेखनीय है  कि  लेबर ट्रांसपोर्टेशन टेंडर घोटाला में अनाज मंडियों में आरोपी वाहनों पर नकली नंबर प्लेट लगाकर माल की ढुलाई करते थे। जांच के दौरान पता चला कि जो नंबर लिखवाए थे वह स्कूल, मोटर साइकिल आदि के थे। वहीं आरोपियों ने टेंडर लेने से पहले विभाग में गलत वाहनों के नंबर लिखवा दिए। जिन वाहनों के यह नंबर हैं, वह माल ढोने के लिए मान्य ही नहीं हैं।

fffdf


जिन लोगों ने गेट पास दिए हैं, उनसे विजिलेंस पूछताछ सकती है। यदि नंबरों की कोई उलट फेर हुई है तो मेरे को नहीं लगता की इससे सरकार के राजस्व को कोई नुकसान हुआ।आशू भागने वालों में से नहीं है। न ही कांग्रेस का कोई मंत्री या विधायक किसी घोटाले में संलिप्त है। मंडियों में वाहनों के नंबरों की जांच करना मंत्री का काम नहीं है। 

आशू ने कहा था कि उनके खिलाफ गिरफ्तारी जैसी कार्रवाई करने पर एक हफ्ते का नोटिस दिया जाए। पूर्व मंत्री भारत भूषण आशू के खिलाफ विजिलेंस ब्यूरो 2 हजार करोड़ के टेंडर स्कैम की जांच कर रही है। इस कारण आशू पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में पहले ही जा चुके हैं। वहीं विजिलेंस जांच में उन्हें भी शामिल किया जाए। इसी मामले में हाईकोर्ट ने सरकार से आशू के खिलाफ चल रही जांच की स्टेट्स रिपोर्ट मांगी थी।

ccccc


करीब 2 महीने पहले कुछ ट्रांसपोर्ट मालिकों व ठेकेदारों की ओर से उस समय के कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशू पर कुछ कॉन्ट्रैक्टर और ठेकेदारों को फायदा पहुंचाने और करोड़ों रूपए की धोखाधड़ी करने के आरोप लगे थे। छोटे ठेकेदारों को नजरअंदाज करके 20-25 लोगों को फायदा पहुंचाया गया। आशू पर 2 हजार करोड़ के टेंडर घोटाले का आरोप लगाया जा रहा है। विजिलेंस इसकी जांच कर रही है। आशू पर छोटे ठेकेदारों ने आरोप लगाए थे कि पंजाब की मंडियों में लेबर और ट्रांसपोर्टेशन के टेंडर में गड़बड़ी की गईलगाए जा रहे हैं।

Latest News

Featured

Around The Web