भारत में भी हैं कई अल-जवाहिरी, खोजकर मारना पड़ेगा, जानें क्या बोले रवि किशन

बीजेपी सांसद ने कहा कि ये मत समझिये कि अल जवाहिरी के मर जाने से आतंकवाद खत्म हो जायेगा।
 | 
रविकिशन
रवि किशन ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि ‘अल-जवाहरी का मारा जाना एक बड़ी उपलब्धि है लेकिन ऐसे बहुत से अल-जवाहिरी हैं, जो हिंदुस्तान में छिपे हुए हैं। ऐसे कीड़े, जानवर लोग देश के लिए खतरा है। इन्हें खोज-खोज के मारना पड़ेगा। अल-जवाहिरी जैसे लोग जब एक मरते हैं तो सौ को पैदा करके जाते है।गोरखपुर सांसद ने कहा कि ‘ये मत समझिये कि अल-जवाहिरी के मर जाने से आतंकवाद खत्म हो जायेगा। ये अपने पीछे 1000 हजार लोगों को ट्रेंड करके जाते हैं, जैसे ओसामा बिन लादेन बना कर गया था। हमें ऐसे अल-जवाहिरी को खोज खोजकर मारना पड़ेगा।’ सोशल मीडिया पर लोग अल जवाहिरी के इस बयान पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

लखनऊ.   आतंकवादी अयमान अल-जवाहिरी को अफगानिस्तान में अमेरिकी ड्रोन हमले में मार दिया गया है। भारत में भी अल-जवाहिरी की मौत की खूब चर्चा हो रही है। इसी बीच अब रवि किशन ने कहा है कि भारत में कई अल-जवाहिरी हैं। रवि किशन ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि ‘अल-जवाहरी का मारा जाना एक बड़ी उपलब्धि है लेकिन ऐसे बहुत से अल-जवाहिरी हैं, जो हिंदुस्तान में छिपे हुए हैं। ऐसे कीड़े, जानवर लोग देश के लिए खतरा है। इन्हें खोज-खोज के मारना पड़ेगा। अल-जवाहिरी जैसे लोग जब एक मरते हैं तो सौ को पैदा करके जाते है। 

गोरखपुर सांसद ने कहा कि ‘ये मत समझिये कि अल-जवाहिरी के मर जाने से आतंकवाद खत्म हो जायेगा। ये अपने पीछे 1000 हजार लोगों को ट्रेंड करके जाते हैं, जैसे ओसामा बिन लादेन बना कर गया था। हमें ऐसे अल-जवाहिरी को खोज खोजकर मारना पड़ेगा।’ सोशल मीडिया पर लोग अल जवाहिरी के इस बयान पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

राकेश तिवारी नाम के यूजर ने लिखा कि ‘रवि किशन के कहने से कुछ नहीं होने वाला है, सत्ता तो मोदी जी के हाथ में है।आज तक ये लोग मौलाना साद को तो खोज नहीं पाये,अल-जवाहिरी जैसो को ये क्या खाक खत्म कर पाएंगे। मोदी शाह की जोड़ी को तुष्टीकरण की नीति से प्यार हो गया है।’ अनुपम झा ने लिखा कि ‘इनकी सरकार है ८ वर्ष से, पूछिए क्यों नहीं मार रहे चुन चुन कर, चीन पर क्या कर रहे हैं?’

इन्दर सैनी नाम के यूजर ने लिखा कि ‘बिलकुल सही कहा आप ने सर जी, हमारे देश में भी पता नहीं कितने ऐसे लोग हैं जो हमारे देश का माहौल ख़राब कर रहे हैं। हमें सभी को खोजना होगा सर जी क्योंकि वो इंसान नहीं जानवर हैं और ये हमारे देश के लिए खतरा हैं।’ मोहमद उस्मान नाम के यूजर ने लिखा कि ‘मतलब अमित शाह और गृह मंत्रालय को खबर ही नहीं है कि भारत में आतंकी छिपे हैं ये तो मोदी जी का पोल खोल रहे हैं। नोटबंदी से आतंकवाद खत्म हो गया था फिर कहां से आ गए ये सब!’

बता दें कि अल-जवाहिरी ने 11 सितंबर 2001 को अमेरिका में आतंकी हमला करने की साजिश रचने में ओसामा बिन लादेन की मदद की। अमेरिका ने जब लादेन को मार दिया तो उसके बाद अल-जवाहिरी ने उसकी विरासत संभाली थी। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सोमवार को अल-जवाहिरी के मारे जाने की पुष्टि की है।

Latest News

Featured

Around The Web